( evs coaching notes in hindi pdf)

सौरमण्डल ( evs short notes )

  • सौरमण्डल का जनक निहारिका को कहा जाता है
  • महाविस्फोट का सिद्धान्त जार्ज लैमिन्तेयर ने दिया है ।
  • हमारी आकाशगंगा सर्पिलाकार है
  • एड्रोमेडा हमारी अकाशगंगा के सबसे निकट की आकागंगा है।

सूर्य

  • सूर्य की आयु 5 अरब वर्ष है ।
  • सूर्य के प्रकाश को पृथ्वी तक पहुँचने में 8 मिनट 16.6 सेकण्ड का समय लगता है ।
  • सूर्य की बाहरी सतह का तापमान 6000 डिग्री सेल्सियस है ।
  • प्राक्सिमा सेंचुरी सूर्य का सबसे निकटतम तारा है ।

ग्रह

  • सौरमण्डल में कुल 8 ग्रह हैं।
  • दूरी के अनुसार ग्रहों का क्रम – बुध , शुक्र, पृथ्वी, मंगल, बृहस्पति , शनि , अरूण ,वरुण
  • सबसे बड़ा ग्रह बृहस्पति तथा सबसे छोटा ग्रह बुध है ।

चन्द्रमा

  • चन्द्रमा पृथ्वी का एकमात्र उपग्रह है ।
  • चन्द्रमा पृथ्वी का एक चक्कर 27 दिन 7 घण्टे 43 मिनट में लगाता है ।
  • चन्द्रमा का उच्चतम भाग लीबनिट्ज पर्वत है ।

क्षुद्रग्रह , धूमकेतु एवं उल्का

  • क्षुद्रग्रह मंगल एवं बृहस्पति की कक्षाओं के मध्य पाये जाते हैं ।
  • सर्वप्रथम खोजा गया क्षुद्रगह सिरस है ।
  • हेल धूमकेतु 76 वर्षों बाद दिखाई देता है , अन्तिम बार यह 1986 में दिखाई दिया था।
  • उल्का पिंड को उल्काशम को टूटता तारा भी कहते हैं।
  • सर्वाधिक उपग्रहों वाला ग्रह बृहस्पति ग्रह है ।
  • लेटा हुआ ग्रह अरुण को कहते हैं ।
  • पृथ्वी से सबसे दूर ग्रह वरुण है इसे हरा ग्रह भी कहते हैं।
  • पृथ्वी की बहन शुक्र है , इसे भोर का तारा , तथा सांझ का तारा भी कहते हैं।
  • सौरमण्डल का सबसे बड़ा उपग्रह गैनीमीड है ।
  • सौरमण्डल का सबसे छोटा उपग्रह डीमोस है।
  • विपरीत दिशा में गति करने वाले ग्रह अरुण एवं शुक्र हैं। ( evs for uptet short notes pdf)

अक्षांश एवं देशान्तर

  • अक्षांश ऱेखाओं की कुल संख्या 180 है ।( वास्तव में 179 अक्षांश वृत्त तथा दो बिंदु हैं । )
  • 0 अक्षांश रेखाओं को भूमध्य रेखा तथा विषुवत रेखा ( equator) कहते हैं।
  • 23.5 ( 23 1/2 ) उत्तरी अक्षांश रेखा को कर्क रेखा ( tropic of cancer) कहते हैं।
  • 23.5 ( 23 1/2 ) दक्षिणी अक्षांश रेखा को मकर रेखा ( tropic of Capricorn) कहते हैं।
  • एक अक्षांश रेखा से दूसरी अक्षांश रेखा के बीच की 111.32 किमी की दूरी होती है ।
  • देशान्तर रेखाएं( longitudinal lines) उत्तर से दक्षिण खीचीं गयी काल्पनिक रेखाएं है इनकी संख्या 360 हैं।
  • 0 डिग्री अक्षांश रेखा पृथ्वी को दो बराबर भागों में बाँटती है ।
  • 1 डिग्री देशान्तर तय करने में पृथ्वी के 4 मिनट का समय लगता है ।
  • 180 डिग्री देशान्तर को अन्तर्राष्ट्रीय तिथि रेखा कहा जाता है । यह रेखा ग्रीनविच (लंदन) से होकर गुजरती है ।
  • भारत का मानक समय 82 1/2 पूर्वी देशान्तर पर स्थित है , यह इलाहाबाद के नैनी एवं मिर्जापुर के पश्चिम से होकर गुजरती है ।
  • रूस में सर्वाधिक 11 अमेरिका में 7 तथा आस्ट्रेलिया में 3 टाइम जोन हैं। ( evs short notes in hindi for uptet )

पृथ्वी की आंतरिक संरचना [evs short notes for uptet/stet]

इसे तीन भागों में विभाजित किया गया है

  1. भू-पर्पटी– इसे भू- पटल से क्रस्ट भी कहते हैं।
    1. यह सिलिका या एल्युमिनियम से निर्मित है , इसे sial सियाल भी कहते हैं।

2.मैण्टल-

यह सिलिका एवं मैग्नीशियम से निर्मित है इसे सीमा SIMA भी कहते हैं।

3.कोर

  • यह पृथ्वी की आंतरिक परत है ।
  • इसका निर्माण निकिल एवं लोहे से हुआ है . इसे NIFE नीफे भी कहते हैं।

पृथ्वी के भू-पृष्ट में आक्सीजन 46.8 प्रतिशत सिलिकान 27.7 प्रतिशत , एल्युमिनियम 8.1 प्रतिशत , लोहा 5 प्रतिशत, कैल्शियम 3.6 प्रतिशत , सोडियम 2.8 प्रतिशत पाया जाता है।

सम्पूर्ण पृथ्वी में सर्वाधिक मात्रा में लोहा पाया जाता है ।

पर्वत

उत्पत्ति के आधार पर पर्वत चार प्रकार के होते हैं।

  1. वलित या मोड़दार पर्वत 2. ब्लाक पर्वत 3. ज्वालामुखी पर्वत 4. अवशिष्ट पर्वत
  • अप्लेशियन ( उत्तरी अमेरिका ) , पेनाइन ( यूरोप) , अरावली ( भारत), आदि प्राचीनतम पर्वत है।
  • हिमालय, आल्पस , यूराल, राकी, एण्डीज , आदि मोडदार या वलित पर्वत के उदाहरण है। * आल्प्स मध्य यूरोप की सबसे बड़ी पर्वतमाला है, यूराल पश्चिमी रूस की एक पर्वत श्रृंखला है, राकी उत्तरी अमेरिका में स्थित हैं, एण्डीज पर्वत माला दक्षिण अमेरिका में स्थित है।
  • फ्यूजीयामा ( जापान ) तथा कोटोपैक्सी संगृहीत पर्वत हैं।
  • जर्मनी का ब्लैक फारेस्ट ब्लाक पर्वत का उदाहरण है ।
  • अवशिष्ट पर्वत के उदाहरण है – अरावली, विन्ध्याचल , सतपुड़ा ,इत्यादि ।
  • माउण्ट एवरेस्ट , विश्व की सबसे ऊँची चोटी है । इसकी ऊँचाई 8848 मीटर है , यह नेपाल -तिब्बत सीमा पर है ।
  • के-2 गांडविन आस्टिन 8611 मीटर विश्व की दूसरी सबसे ऊँची चोटी है तथा भारत की सबसे ऊँची चोटी है , यह पाक अधिकृत कश्मीर में है ।
  • भारत की निर्विवादित सबसे ऊंची चोटी कंचनजंघा है । यह विश्व की तीसरे नंबर की ऊँची चोटी है ,यह सिक्किम में स्थित है ।
  • एकांगगुआ एण्डीज पर्वतमाला में स्थित है , यह अर्जेण्टीना में स्थित है।
  • माउंट मैकिन्ले उत्तरी अमेरिका का सबसे ऊँचा पर्वत है , यह अलास्का में स्थित है।
  • किलिमंजारो तंजानिया , दक्षिण अमेरिका की सबसे ऊँची चोटी है।
  • एलब्रुश , रूस में स्थित यूरोप की सबसे ऊँची चोटी है।
  • विंसन मैसिफ अण्टार्टिका की सबसे ऊँची चोटी है ।
  • कोसिडस्को , न्यू साउथ वेल्स स्थित आस्ट्रेलिया की सबसे ऊँची चोटी है ।
  • लम्बाई के अनुसार पर्वतों का क्रम इस प्रकार है , एण्डीज > राकी > ग्रेट डिवाडिंग रेंज > हिमालय >

मरूस्थल

पृथ्वी के वह क्षेत्र जहाँ 25 सेमी से कम वर्षा होती है , मरूस्थल कहलाते हैं।

  • स्थल खण्ड के शुष्क एवं अर्धशुष्क भाग मरूस्थल की श्रेणी में आते हैं, ।
  • वह क्षेत्र जहाँ 70 से 200 सेमी वर्षा उष्णकटिबंधीय पर्णपाती वनों में होती है ।
  • 200 सेमी से अधिक वर्षा पश्चिमी घाट तथा उत्तर- पूर्व हिमालयी क्षेत्र में होती है ।
  • सहारा विश्व का सबसे बड़ा मरुश्थल है जो कि दक्षिण अफ्रीका में स्थित है ।
  • गोबी मरूस्थल एशिया का सबसे बड़ा मरुस्थल है ।
  • कालाहारी मरूस्थल दक्षिण अफ्रीका में पड़ता है ।
  • रब-अल-खली मरूस्थल अरब प्रायद्रीप में स्थित है ।
  • सिम्पसन मरूस्थल आस्ट्रेलिया में स्थित है ।
  • तकलामाकन मरूश्थल चीन में स्थित है ।
  • पैण्टोगोनिया मरूस्थल अर्जेण्टीन में स्थित है ।
  • थार सार्वधिक जनसंख्या वाला मरूस्थल भारत एवं पाकिस्तान में स्थित है ।
  • दस्त ए लूट मरूस्थल पूर्वी ईरान में स्थित है ।
  • दस्त ए कबीर मरुस्थळ दक्षिणी ईरान में स्थित है ।
  • ग्रेट विक्टोरिया मरूस्थल आस्ट्रेलिया में स्थित है ।
  • यूरोप महाद्वीप में कोई भी मरूस्थल नहीं स्थित है ।
  • थार दक्षिण एशिया का सबसे बड़ा मरूस्थल है । [ evs for uptet in hindi]

विश्व के महाद्वीप

विश्व के कुल सात महाद्वीप है – एशिया , अफ्रीका , उत्तरी अमेरिका , दक्षिण अमेरिका , यूरोप , आस्ट्रेलिया तथा अण्टार्टिका । [ evs for stet in hindi]

  • क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बड़ा महाद्वीप एशिया (29.5 %) तथा आस्ट्रेलिया ( 5.3 % ) सबसे छोटा महाद्वीप है ।
  • एशिया का सबसे बड़ा देश चीन तथा सबसे छोटा देश मालद्वीप हैं।
  • सबसे लम्बी नदी
    • एशिया की सबसे लम्बी नदी यांगटीसीक्यांग है , नील नदी अफ्रीका की सबसे लम्बी नदी है , मिसिसिपी मिसौरी उत्तरी अमेरिका की सबसे लम्बी नदी है , अमेजन दक्षिण अमेरिका की सबसे लम्बी नदी है , वोल्गा यूरोप की सबसे लम्बी नदी है , मरे-डार्लिंग आस्ट्रेलिया की सबसे लम्बी नदी है ।
  • सबसे ऊँचा पर्वत –
    • – एशिया का सबसे ऊँची पर्वत श्रृंखला माउण्ट एवरेस्ट , अफ्रीका सबसे ऊँचा पर्वत माउण्ट किलीमंजारो, उत्तरी अमेरिका का सबसे ऊँचा पर्वत माऊण्ट मैकिन्ले है, दक्षिमी अमेरिका का सबसे ऊँचा पर्वत एकांगगुआ है, यूरोप का सबसे ऊँचा पर्वत माउंट अल्ब्रुश है, आस्ट्रेलिया का सबसे ऊँचा पर्वत माउंट कोस्यूस्को है , विंसन मैसिफ अण्टार्टिका की सबसे ऊँची चोटी है ।
  • सबसे बडी झील –
    • कैस्पियन सागर एशिया की सबसे बड़ी झील है , विक्टोरिया अफ्रीका की सबसे बड़ी झील है , लेक सुपीरियर उत्तरी अमेरिका की सबसे बड़ी झील है , टिटिकाका दक्षिण अमेरिका की सबसे बड़ी झील है , लैडोगा यूरोप की सबसे बड़ी झील है , आयर आस्ट्रेलिया की सबसे बड़ी झील है । evs short notes for uptet

प्रमुख द्वीप

  • ग्रीनलैण्ड उत्तरी अटलाण्टिक महासागर में स्थित विश्व का सबसे बड़ा द्वीप है ।
  • न्यूगिनी प्रशान्त महासागर में स्थित है, यह विश्व का दूसरा सबसे बड़ा द्वीप है ।
  • बोर्नियो द्वीप प्रशान्त महासागर में स्थित है, यह विश्व का तीसरा तथा एशिया का सबसे बड़ा द्वीप है ।
  • मेडागास्कर हिन्द महासागर में स्थित है ।
  • बेफिन द्वीप कनाडा में स्थित है ।
  • सुमात्रा द्वीप इण्डोनेशिया में स्थित है ।

प्राकृतिक सम्पदा / संसाधन –

प्राकृतिक सम्पदा वह अमूल्य सम्पदा है जो हमें पृथ्वी से मिलता है ।

  1. स्थल 2. वायु 3. जल

विश्व के महासागर

पृथ्वी के 71 प्रतिशत भाग पर जलमण्डल का विस्तार है ।

विश्व में प्रमुख महासागर है-

प्रशान्त महासागर में मेरियाना गर्त स्थित है , अटलाण्टिक महासागर में पोर्टोरिको गर्त स्थित है , हिन्द महासागर में जावा गर्त स्थित है । आर्कटिक महासागर का विस्तार उत्तरी ध्रव में तथा अण्टार्टिका महासागर का विस्तार दक्षिणी ध्रुव में है ।

  • दक्षिणी चीन सागर का सबसे गहरा स्थान वेस्ट आफ न्यू जोन है।
  • भूमध्यसागर का सबसे गहरा स्थान केपमटपम है ।
  • बेरिंग सागर का सबसे गहरा स्थान बुल्डिर द्वीप है ।
  • कैरिबियन सागर का सबसे गहरा स्थान केमन द्वीप है ।
  • जापान सागर का सबसे गहरा स्थान सेण्ट्रल बेसिन है ।
  • उत्तरी सागर का सबसे गहरा द्वीप स्केजंरक है ।
  • लाल सागर का सबसे पोर्ट सूडान है ।
  • बाल्टिक सागर का सबसे गहरा द्वीप गोनांद है ।
  • मध्य अटलाण्टिक कटक S आकार का है ।
  • सारसैगो सागर उत्तरी अटलाण्टिक महासागर में स्थित है ।
  • सागरीय जल की लवणता में सोडियम क्लोराइट का अधिकतम योगदान है ।
  • महासागरों की औसत लवणता 35 प्रतिशत है ।
  • विश्व का सबसे गहरा समुद्री गर्त मैरियाना या चैलेंजर गर्त है , जो प्रशान्त महासागर में स्थित है ।

भारत का भूगोल

भारत का सामान्य परिचय

  • यह तीन ओर समुद्र से घिरा हुआ है इसका विस्तार उत्तर से दक्षिण 8* से 37 डिग्री तक है ।
  • सबसे दक्षिणी बिन्दु इन्दिरा प्वांइट तथा उत्तरी छोर इन्दिरा काल है ।
  • भारत का क्षेत्रफल विश्व के क्षेत्रफल का 2.4 प्रतिशत तथा भारत की जनसंख्या सम्पूर्ण विश्व की जनसंख्या के 17.5 प्रतिशत है ।
  • विश्व में क्षेत्रफल की दृष्टि से 7वाँ तथा जनसंख्या की दृष्टि से दूसरा सबसे बड़ा देश है ।
  • भारत का कुल क्षेत्रफल 32 लाख 87 हजार 263 वर्ग किलोमीटर है ।
  • भारत का उत्तर से दक्षिण 3214 किलोमीटर तथा पूर्व से पश्चिम 2933 किलोमीटर का विस्तार है ।
  • भारत की स्थालीय सीमा 15200 किमी तक विस्तृत है , जबकि तटीय भाग की लम्बाई 7516.5 किमी है ।
  • 82 1/2 पूर्वी देशान्तर रेखा भारत के मध्य से होकर जाती है । इसके द्वारा भारत का मानक समय निर्धारित होता है , यह इलाहाबाद के नैनी से होकर गुजरती है ।
  • भारत का मानक समय ग्रीनविच मीन टाअम से 5:30 घण्टे आगे है ।
  • भारत की मानक समय रेखआ पाँच राज्योे उत्तर प्रदेश , मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ , ओडिशा तथा आन्ध्र प्रदेश से होकर गुजरती है ।
  • कर्क रेखा 23 1/2 उत्तरी अक्षांश भारत के बीचों – बीच से गुजरती है ।
  • यह 8 राज्यों राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश , छत्तीसगढ, झारखण्ड, पश्चिम बंगाल, त्रिपुरा एवं मिजोरम से होकर जाती है ।
  • भारत के कुल क्षेत्रफल का 43 प्रतिशथ मैदानी भाग, 28 प्रतिशत पठारी भाग, 18 प्रतिशत भाग पहाड़ी तथा 11 प्रतिशत भाग पर्वतीय है ।

उत्तर का पर्वतीय क्षेत्र

  • वर्तमान में जहाँ हिमालय है वहाँ पहले टेथिस नामक उथला सागर था.
  • हिमालय एक नवीन मोड़दार वलित पर्वत है । [evs short notes for uptet]
  • कराकोरम, जास्कर एवं लद्दाख श्रेणियाँ ट्रांस हिमालय के अन्तर्गत आती है ।
  • के-2 गाडविन आस्टिन भारत की सर्वोच्च ऊँची चोटी है । यह पाक अधिकृत कश्मीर में है ।
  • हिमालय की सबसे ऊँची चोटी हिमाद्रि या वृहद हिमालय है ।
  • गाडविन आस्टिन के-2 ( कराकोरम) यह भारत का सर्वोच्च शिखर है , यह पाक अधिकृत कश्मीर में है ।
  • कंचनजंघा महान हिमालय में स्थित है , यह सिक्किम और नेपाल की सीमा पर स्थित है ।
  • नंगा पर्वत , हिमालय के पश्चिमा किनारे पर स्थित यह जम्मू-कश्मीर में है ।
  • नंदा देवी उत्तराखण्ड , गढवाल का सर्वोच्च पर्वत शिखर है।
  • नमचा बरवा , कराकोरम में स्थित यह हिमालय के पूर्वी छोर पर स्थित है ।
  • केदारनाथ , गढवाल हिमालय में स्थित है, यहाँ 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक स्थित है ।
  • अनाइमुदि , अन्नामलाई में स्थित दक्षिण भारत की सर्वोच्च ऊँची चोटी है ।
  • दोदाबेट्टा , नीलगिरि में स्थित है, टोडा जनजाति इसी के निकटवर्ती स्थान में निवास करती है ।
  • माउण्ट आबू या गुरु शिखर अरावली में स्थित राजस्थान का सर्वोच्च शिखर है ।
  • महेन्द्रगिरि पूर्वी घाट की पहाड़ियों पर उड़ीस में स्थित है ।
  • अमरकण्टक ,मैकाल पर्वत श्रेणी में स्थित है . यहाँ से नर्मदा एवं सोन नदियाँ निकलती हैं।
  • धूपगढ़ , सतपुड़ा पर्वत श्रेणी में स्थित है , यह महादेव पहाड़ी का सर्वोच्च बिंदु है , पंचमढ़ी इसी के निकट स्थित है । [ evs notes for uptet]

प्रायद्वीपीय पठार

  • प्रायद्वीपीय पठार प्राचीन गोण्डवानालैण्ड का भाग है । यह त्रिभुजाकार है ।
  • अरावली पहाड़ियाँ राजस्थान में स्थित है । इसका सर्वोच्च शिखर गुरुशिखर में स्थित है ।
  • अरावली एवं विन्ध्य श्रृंखलाओं के मध्य मालवा का पठार स्थित है ।
  • मालवा का पठार मध्य प्रदेश एवं छत्तीसगढ राज्य में विस्तृत है ।
  • मैकाल पहाड़ी का सर्वोच्च शिखर अमरकण्टक है ।
  • छोटानागपुर का भारत का रूर कहते हैं, क्योंकि यह खनिज की दृष्टि से सर्वाधिक सम्पन्न है ।
  • अनाइमुदि दक्षिण भारत की सर्वोच्च पर्वत चोटी है । इसकी ऊँचाई 2695 मीटर है ।

मैदान

  • मैदान का निर्माण नदियाें द्वारा लायी गयी जलोढ़ मिट्टियाों से हुआ है । यह अत्यधिक उपजाऊ है ।
  • भाबर प्रदेश अत्यधिक ऊबड-खाबड़ है , इसलिए यहाँ नदियाँ दिखायी नहीं देती हैं।
  • तराई प्रदेश दलदली क्षेत्र में है , यहाँ घने जंगल तथा जैव विविधता की अधिकता रहती है ।
  • बाँगर प्रदेश उच्च भाग होता है , जहाँ बाढ़ का पानी नहीं पहुँच पाता है ।
  • खादर प्रदेश नवीन जलोढ़ों से निर्मित है । इसे बाढ का मैदान या कछारी प्रदेश कहते हैं।

पूर्वी एवं पश्चिमी घाट

  • पूर्वी एवं पश्चिमी घाट नीलगिरि पर्वतमाला पर आपस में मिल जाते हैं।
  • नीलगिरि पर्वत की सर्वोच्च चोटी दोदाबेट्टा है, जो दक्षिण भारत की दूसरी सर्वोच्च चोटी है।
  • अन्नामलाई पर्वत की सर्वोच्च चोटी अनाइमुदि है। यह तीन पहाड़ियों का मिलनबिन्दु है ।
  • पश्चिमीघाट एक भ्रंश कगार है। इसे सहाद्रि भी कहा जाता है ।
  • अरब सागर में स्थित लक्षद्वीप प्रवाल द्वीप का उदाहरण है ।

भारत की नदियाँ ( अपवाह तन्त्र)

  • हिमालयी नदियाँ वर्षभर जल से परिपूर्ण रहती हैं, जबकि प्रायद्वीपीय नदियाँ मौसम और बारिश पर निर्भर करती हैं।
  • भारत की सबसे लंबी नदी गंगा है ।
  • गंगा नदी को बांग्लादेश में पद्मा कहा जाता है , जबकि ब्रम्हपुत्र नदी को बाग्लादेश में जमुना कहा जाता है।
  • नर्मदा एवं ताप्ती नदियाँ पश्चिम की ओर ( रिफ्ट घाटी से होकर) बहती हैं, ये नदियाँ डेल्टा का निर्माण नहीं करती हैं, ये एश्चुअरी बनाती हैं।
  • प्रायद्वीपीय भारत की सबसे बड़ी नदी गोदावरी है ।
  • सतलज एवं बम्हपुत्र नदियाों का उद्गम स्थल भारत मेें नहीं है ।
  • भगीरथी एवं अलकनन्दा नदियाों का संगम देवप्रयाग में होता है ।
  • रूद्रप्रयाग में मन्दाकिनी एवं अलकनन्दा नदियों का संगम होता है ।
  • कर्णप्रयाग में पिण्डार एवं अलकनंदा नदियों का संगम होता है ।
  • विष्णु प्रयाग में धौलीगंगा एवं अलकनंदा नदियों का संगम होता है ।
  • दामोदर नदी को बंगाल का शोक तथा कोसी नदी को बिहार का शोक कहते हैं।
  • सिन्धु नदी का उद्गम तिब्बत में मानसरोवर झील के पास सानोख्याबाब हिमनद से होता है ।
  • सतलज नदी मानसरोवर झील के निकट राकसताल से निकलती है ।
  • रावी नदी का उद्गम कांगडा जिले के रोहतांग दर्रे से होता है ।
  • झेलम नदी बैरीनाग के समीप शेषनाग झील से निकलती है ।
  • व्यास नदी रोहतांग दर्रे के समीप व्यास कुण्ड से निकलती है ।
  • गंगा , गंगोत्री के पास गोमुख हिमानी से निकलती है ।
  • यमुना , बन्दरपूछ के पश्चिमी ढाल पर स्थित यमुनोत्री हिमानी से निकलती है ।
  • चम्बल मध्य प्रदेश में मऊ के समीप स्थित जानापाव पहाड़ी की सिंगार चौरी चोटी से निकलती है ।
  • घाघरा या करनाली नेपाल में तकलाकोट के पास म्पसातुंग हिमानी से निकलती है ।
  • गण्डक नेपाल से निकलती है ।
  • ब्रम्हपुत्र , तिब्बत में मानसरोवर झील से निकलती है ।
  • नर्मदा , विन्ध्याचल पर्वतश्रेणी के अमरकण्टक नामक स्थान से निकलती है ।
  • महानदी का उद्गम स्थल सिहावा के समीप है।
  • ताप्ती नदी का उद्गम मुल्ताई ( मूल ताप्ती ) नगर के पास से है।
  • गोदावरी , का उद्गम महाराष्ट्र त्रयम्बकम् गाँव की एक पहाड़ी से होता है ।
  • कावेरी , का उद्गम बम्हगिरि पहाड़ी से होता है।
  • कृष्णा , का उद्गम महाबलेश्वर के समीप पश्चिमी घाट पहाड़ी से होता है ।
  • गंगा नदी को बंग्लादेश में पद्मा कहा जाता है , जबकि ब्रम्हपुत्र नदी को बांग्लादेश में जमुना कहा जाता है ।
  • नर्मदा एवं ताप्ती नदियाँ पश्चिम की ओर बहती है. ये नदियाँ डेल्टा का निर्माण नहीं करती हैं।ये एश्चुरी बनाती है ।
  • प्रायद्वीपीय भारत की सबसे बड़ी नदी गोदावरी है।
  • सतलज एवं ब्रम्हपुत्र नदियों का उद्गम स्थल भारत में नहीं है ।
  • भागीरथी व अलकनन्दा नदियों का संगम देवप्रयाग में होता है ।
  • रूद्रप्रयाग में मन्दाकिनी एवं अलकनन्दा नदियों का संगम होता है ।
  • कर्णप्रयाग में पिण्डार एवं अलकनन्दा नदियों का संगम होता है ।
  • विष्णुप्रयाग में धौलीगंगा एवं अलकनंदा नदियों का संगम होता है ।
  • दामोदर नदी को बंगाल का शोक तथा कोसी नदी को बिहार का शोक कहते हैं।

भारत के प्रमुख जलप्रपात

  • कुंचीकुल जलप्रपात 455 मीटर ऊंचा वराही नदी पर कर्नाटक में स्थित है ।
  • जोग / गरसोप्पा/ महात्मा गाँधी 253 मीटर ऊँचाई पर शरावती नदी पर कर्नाटक में स्थित है ।
  • शिवसमुद्रन जलप्रपात 90 मीटर ऊँचा कावेरी नदी पर कर्नाटक पर स्थित है ।
  • हुण्डरू जलप्रपात 74 मीटर ऊँचा स्वर्णरेखा नदी पर झारखण्ड में स्थित है ।
  • कोकक जलप्रपात 53 मीटर ऊँचा कोकक नदी पर कर्नाटक में स्थित है ।
  • चुलिया जलप्रपात 18 मीटर ऊँचा चम्बल नदी पर राजस्थान में स्थित है।
  • पुनासा जलप्रपात 10 मीटर ऊँचा नर्मदा नदी पर जलबलपुर , मध्यप्रदेश में स्थित है ।
  • धुँआधार जलप्रपात नर्मदा नदी पर जबलपुर मध्यप्रदेश में स्थित है ।

प्रमुख झीलें एवं उनकी अवस्थिति

  • वुलर झील, डल झील , वैरीनाग झील , मानसबल झील जम्मू कश्मीर में स्थित है।
  • लोनार झील , पवई झील , शिवसागर झील एवं वेन्ना झील महाराष्ट्र में स्थित है ।
  • साँभर झील , नक्की झील , पिझौल झील , पुष्कर झील पंचभद्रा झील राजस्थान में स्थित है ।
  • चिल्का झील अंशुपा कंजिया झील उड़ीसा में स्थित है ।
  • पेरियार झील , अष्टमुडी झील, वेम्बनाद झील केरल में स्थित है ।
  • पुलिकट झील तमिलनाडु और आन्ध्रप्रदेश की सीमा पर स्थित है ।
  • वेम्बनाद झील केरल में स्थित है .
  • सातताल, नैनीताल , राकसताल, मालाताल, देवताल, नौकुचियाताल उत्तराखण्ड में स्थित है ।
  • नागिन झील , शेषनाग झील , अनन्नतनागझील जम्मू कश्मीर में स्थित है ।
  • लोकटक झील मणिपुर में स्थित है ।
  • डीडवाना, उदसागर झील राजस्थान में स्थित है ।
  • कोलेरू झील , हुसैन सागर झील आन्ध्रप्रदेश सागर में स्थित है ।
  • फुल्हर झील , कीठम झील, बखीरा झील, लिलौर, अलवारा झील उत्तर प्रदेश में स्थित है ।

भारत की जलवायु एवं वर्षा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!